in ,

8 Best Women Writers From Bihar – बिहार की सर्वश्रेष्ठ महिला लेखिका

Female Writers from Bihar

बिहार ही नहीं बल्कि पुरे भारत देश की महिलाओं, उनके संघर्षों और विजयों को हर दिन पहचाना जाना चाहिए। महिलाओं को हर क्षेत्र में अपनी राह खुद बनानी पड़ी है और साहित्य का क्षेत्र भी इससे अलग नहीं रहा है। इसे ध्यान में रखते हुए, यहां कुछ सर्वश्रेष्ठ बिहार की महिला लेखकों (Female Writers from Bihar) के नाम दिए गए हैं, जिन्होंने कलम के माध्यम से अपनी पहचान बनाई है, और साबित किया है कि वे सबसे शक्तिशाली हैं।

8 Famous Female Writers from Bihar.

1. Anamika (poet)

Books Writer from Bihar

अनामिका का जन्म 17 अगस्त 1961 को बिहार के मुजफ्फरपुर में हुआ था। अनामिका एक समकालीन भारतीय कवि, सामाजिक कार्यकर्ता और हिंदी में उपन्यासकार और अंग्रेजी में एक आलोचक लेखक भी हैं।

Published books of Anamika:

  • पानी जो पत्थर पीता हैं (Pani jo patthar pita hai) 2005
  • मन मांझने की जरूरत (Man Manjhne Ki Jaroorat (Stree Vimarsh) 2006
  • विचित्र घटना तथा अन्य कहानियाँ (Vichitra Ghatna Tatha Anya Kahaniyan) 2009
  • खुरदुरी हथेलियाँ (Khurduri Hatheliyan) 2009
  • स्वाधीनता का स्त्री-पक्ष (Swadhinta Ka Stri Paksh) 2012
  • पानी को सब याद था (Pani Ko Sab Yaad Tha) 2019

2. Mridula Sinha

Female Writers from Bihar, Female Novelist from Bihar

मृदुला सिन्हा का जन्म 27 नवंबर 1942 को बिहार राज्य के मिथिला क्षेत्र के मुजफ्फरपुर जिले के छपरा धरमपुर यदु गाँव में हुआ था। मृदुला सिन्हा एक भारतीय लेखिका और राजनीतिज्ञ थीं, जिन्होंने अगस्त 2014 से अक्टूबर 2019 तक गोवा की राज्यपाल के रूप में कार्य किया। वह गोवा की पहली महिला राज्यपाल थीं।

इस बीच, मृदुला ने सांस्कृतिक मामलों और ग्रामीण परंपराओं में रुचि रखती थी। उन्होंने इन विषयों पर और लोक कथाओं पर लघु कथाएँ लिखीं कि वे उन गाँवों से एकत्रित हुईं। इनमें से कई कहानियाँ हिंदी भाषा की पत्रिकाओं में प्रकाशित हुईं और बाद में बिहार की लोक-कथाएँ (“बिहार की लोक-कथाएँ“) नामक दो-खंडों के संकलन में संकलित की गईं।

उन्होंने कई उपन्यास और राजमाता विजयाराजे सिंधिया की जीवनी भी लिखी जिसका शीर्षक था “एक थी रानी ऐसी भी” बाद में इस किताब पर आधारित एक फिल्म भी बनाई गई थी।

Published books of Mridula Sinha:

  • एक थी रानी ऐसी भी (Ek thi rani aisi bhi) – Short biography
  • नयी देवयानी (Nayi devyani) – Novel
  • ज्यों मेहंदी को रंग (Jyon mehandi ko rang) – Novel
  • सीता पोनी बोली (Sita puni boli) – Novel
  • ढाई बीघा ज़मीन (Dhai beegha zameen) – Stories
  • बिहार की लोक कथाएँ-I (Bihar ki lok kathayen–I ) – Stories
  • बिहार की लोक कथाएँ-II (Bihar ki lok kathayen–II ) – Stories

3. Gauri Ayyub

गौरी अय्यूब का जन्म 13 फरवरी 1931 को पटना में हुआ था। गौरी ने अपना अधिकांश जीवन कोलकाता (कलकत्ता) में स्थित एक सामाजिक कार्यकर्ता, लेखक और शिक्षक के रूप में बिताया। गौरी अपने आप में एक लेखिका थीं, और अपनी लघु कथाओं, अनुवादों और सामाजिक मुद्दों पर कई लेखों के लिए जानी जाती हैं।

Gauri Ayyub Book List (Link: BDebooks)

4. Suchitra Bhattacharya

सुचित्रा भट्टाचार्य का जन्म 1950 में बिहार के भागलपुर में हुआ था। उन्हें बचपन से ही लेखन में रुचि थी। सुचित्रा भट्टाचार्य एक भारतीय उपन्यासकार थीं, हेमंतर पाखी (शरद ऋतु का पक्षी) , कच्छर मानुष (मेरे करीब) , अलीक शुख (स्वर्गीय आनंद) और कचर देवल (कांच की दीवार) सहित कार्यों के लिए जानी जाती हैं।

Suchitra Bhattacharya Books List (Link: GoodReads)

5. Kumari Radha

Female Poet from Bihar

कुमारी राधा का जन्म 7 सितंबर 1936 को सुपौल बिहार के जीवाचपुर गांव में हुआ था। वह 5 बच्चों के परिवार में दूसरी बेटी थी। उन्होंने अपनी प्राथमिक शिक्षा गांव से की और उन्होंने 1966 में पटना विश्वविद्यालय से B.A (Hon’s) किया। बाद में उन्होंने 1968 में M.A (Hindi) पूरा किया। उन्होंने अपने छात्र जीवन से साहित्य, कला, सामाजिक और राजनीतिक कार्यों में रुचि लेना शुरू कर दिया।

Published books of Kumari Radha:.

  • सरयू कछारों की हिरनी (Saryu Kachharo Ki Hirni), (Poetry collection, Hindi 1960)
  • गुलमोहर का प्रश्न (Gulmohar Ka Prashn), (Poetry collection, Hindi 1992)
  • अधरतिया के बांसुरी (Adhratiya Ke Bansuri), (Poetry collection, Magahi, 1996)
  • शकुंतला (Shakuntala), (Poetry collection, Hindi, 2000)

6. Neelakshi Singh

नीलाक्षी सिंह का जन्म 17 मार्च 1978 को बिहार के हाजीपुर में हुआ था। उन्होंने 1998 में Banaras Hindu University (BHU) से अर्थशास्त्र में स्नातक की डिग्री हासिल की। वर्तमान में, वह भारतीय स्टेट बैंक के कर्मचारी हैं।

नीलाक्षी सिंह के लघु कहानी संग्रह “परिंदे का इंतजार सा कुछ” और “जिंकी मुठियों में सुरख था” को साहित्यिक आलोचकों द्वारा सराहा गया है।

Publications of Nilakshi Singh

  • खेला (Khela)
  • परिंदे का इंतजार सा कुछ (Parinde Ka Intzaar sa Kuchh
  • शुद्धि पत्र (Shuddhi Patra) Novel
  • जिन्की मुठियों में सुरखा था (Jinki Muthhiyon Mein Surakha Tha)
  • जिसे जहां नहीं होना था (Jise Jahan Nahin Hona Tha)
  • इब्तिदा के आगे खली हाय (Ibtida Ke Aage Khali Hi)

7. Nikita Singh

Female English Writers from Bihar

निकिता सिंह का जन्म 6 अक्टूबर 1991 को पटना, बिहार में हुआ था, जहाँ उन्होंने अपने जीवन के पहले चार साल बिताए। 2008 में ब्रिजफोर्ड स्कूल रांची से अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की। निकिता सिंह एक लेखिका हैं। और द रीज़न इज़ यू (The Reason is You), एवरी टाइम इट रेन (Every Time It Rains), लाइक ए लव सॉन्ग (Like a Love Song), द प्रॉमिस और आफ्टर ऑल दिस टाइम (The Promise and After All This Time) सहित बारह किताबें लिखी हैं।

Bibliography of Nikita Singh:

  • लव @ फेसबुक (Love @ Facebook) -2011
  • एक्सीडेंटली इन लव (Accidentally in Love) 2011
  • इफ इट्स नॉट फॉरएवर… इट्स नॉट लव (If It’s Not Forever… It’s Not Love) 2012
  • द प्रॉमिस (The Promise) 2012
  • 25 स्ट्रोक ऑफ़ किंडनेस (25 Strokes of Kindness) 2013
  • समवन लाइक यू (Someone Like You)  2013
  • द अनरेसोनबल फ़ेलोव्स (The Unreasonable Fellows) 2013
  • राइट हियर राइट नाउ ( Right Here Right Now) 2014
  • द टर्निंग पॉइंट: बेस्ट ऑफ़ यंग इंडियन राइटर्स (The Turning Point: Best of Young Indian Writers) 2014
  • आफ्टर ऑल दिस टाइम (After All This Time) 2015
  • लाइक ए लव सॉन्ग (Like A Love Song) 2016
  • एवरी टाइम इट रैंस (Every Time It Rains) 2017
  • लेटर ऑफ़ माय एक्स (Letters To My Ex) 2018
  • द रीज़न इस यू (The Reason is You) 2019
  • व्हाट डू यू सी व्हेन यू लुक इन द मिरर (What Do You See When You Look In The Mirror?) 2021

8. Kishori Sinha

किशोरी सिन्हा का जन्म 25 मार्च 1925 को हुआ था। वह एक भारतीय राजनीतिज्ञ, सामाजिक कार्यकर्ता, महिला सशक्तिकरण की आजीवन अधिवक्ता और वैशाली निर्वाचन क्षेत्र से दो बार सांसद रहीं। उनकी शादी बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री सत्येंद्र नारायण सिन्हा से हुई थी।

उन्होंने चैपमैन हाई स्कूल मुजफ्फरपुर (Chapman High School Muzaffarpur) से अपनी शिक्षा पूरी की। इसके बाद, उन्होंने पटना महिला कॉलेज से स्नातक किया। 13 साल की उम्र में शादी होने के बावजूद, उन्होंने उच्च श्रेणी की शिक्षा प्राप्त करके और विभिन्न भूमिकाओं में सार्वजनिक सेवा में प्रवेश करके उस समय की कई सामाजिक बाधाओं को तोड़ दिया।

Bibliography of Kishori Sinha:

  • Mere Sansmaran (मेरे संस्मरण), डॉ अनुग्रह नारायण सिन्हा की आत्मकथा
  • Anugrah Abhinandan Granth 1946 (अनुग्रह अभिनंदन ग्रंथ, 1946)
  • Bihar Bibhuti: Vayakti Aur Kriti (बिहार विभूति: अभिव्यक्ति और कृति)

Next Read: Best Poem on Bihar: बिहार पर 7 सबसे लोकप्रिय कविताएं

इस आर्टिकल/पोस्ट में हम बिहार के उन 8 सर्वश्रेष्ठ बिहार की महिला लेखकों (Female Writers from Bihar) के बारे में पढ़ा और देखा की बिहार की महिलाएं भी साहित्य की दुनिया में अपने कलम के माध्यम से अपनी पहचान बनाई। और ये भी साबित करके दिखा दिया के वे भी शक्तिशाली हैं।


अगर आपको इस पोस्ट में कोई त्रुटि मिलती है, तो कृपया हमें ईमेल करके या कमेंट करके इसे सुधारने का मौका दें। ईमेल करे: [email protected] और [email protected]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

GIPHY App Key not set. Please check settings

Written by BJ Staff

The BiharJournal is a News & Information Blog covering Breaking News, Poetry, and Latest Stories from Bihar.

ज़ुबैर अली ताबिश की 10 सबसे लोकप्रिय ग़ज़ल – 10 Best Ghazals of Zubair Ali Tabish

Holi Shayari 2022 in Hindi

Holi Shayari 2022 in Hindi, Holi Wishes & Funny SMS