in ,

Nitish Kumar Biography – नीतीश कुमार की जीवनी – शिक्षा और राजनीति सफर

Nitish Kumar Biography

नीतीश कुमार (Nitish Kumar) बिहार के मुख्यमंत्री है, जिनका नाम देश के दिग्गज नेताओं में लिया जाता है। इस लेख में हम नीतीश कुमार की जीवनी (Nitish Kumar Biography) लेकर राजनितिक सफर तक के बारे में जानेंगे, इस लेख के पहले हमने “Vashishtha Narayan Singh Biography – वशिष्ठ नारायण सिंह की जीवनी” लिखा था आप चाहे तो इसे भी पढ़ सकते हैं, Nitish Kumar Biography को पूरा पढ़े।

Nitish Kumar Biography | नीतीश कुमार की जीवनी

नितीश कुमार का जन्म 1 मई 1951 को बिहार के नालंदा जिले के बख्तियारपुर में आज़ादी के चार साल बाद हुआ था। उनके पिता का नाम कबीर राम लखन सिंह और माता का नाम परमेश्वरी देवी था। नितीश के पिता भारत के स्वतंत्रता सेनानी थे। साथ ही वे आयुर्वेद के बड़े जानकार भी थे।

साल 2000 में Nitish Kumar पहली बार बिहार के मुख्यमंत्री चुने गए थे। नीतीश कुमार हमारे देश के रेल मंत्री के रूप में कई अहम कार्य किए। नीतीश कुमार राजनीति में आने से पहले बिहार राज्य के बिजली बोर्ड में नौकरी करते थे, लेकिन जयप्रकाश नारायण के आंदोलन से प्रेरित होकर नितीश कुमार राजनीति में कूद पड़े।

Nitish Kumar Relationship | नीतीश कुमार की निजी जीवन

नितीश कुमार का दिल जिस टीचर पर आया था, उसका नाम मंजू कुमारी सिंहा था। मंजू कुमारी पटना में एक स्कूल टीचर थीं। दोनों के प्यार का परवान इस कदर चढ़ा कि 22 फरवरी 1973 में कोर्ट में शादी कर ली। नितीश कुमार OBC समुदाय से आते है। वही उनकी पत्नी जेनरल वर्ग से आती थी। नितीश की पत्नी का 2007 में निधन हो गया था।

Nitish Kumar Wiki, Age & Net Worth

Physical Appearance

Height5′ 8″
Weight75 kg (Approx)
Eye ColorBrown
Hair ColorWhite

Nitish Kumar Favourite Things

Favorite Politician:Jaiprakash Narayan
Favorite Actor:Aamir Khan
Favorite Film: PK (2014)
Favorite Food: Butter Masala Dosa
Favorite Beverage: Tea

Nitish Kumar Salary & Net Worth

Salary: 2.15 Lacs INR per month
Net Worth:3.09 Crores INR

Nitish Kumar Address

1 Anne Marg, Sachiwalya, Patna, Bihar

Related Post: Neelam Giri Biography – नीलम गिरी – Biography in Hindi

Nitish Kumar Education | नीतीश कुमार की शिक्षा

नितीश कुमार बचपन से पढ़ाई में काफी तेज थे। उन्होंने अपनी स्कूली पढ़ाई बख्तियारपुर के श्री गणेश हाई स्कूल से की। उसके बाद वे पटना चले गए, और बिहार कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग (NIT Patna) में दाखिला कराया। इस कॉलेज से 1972 में उन्होंने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग (Electrical engineering) की डिग्री हासिल की। पढ़ाई पूर्ण होने के बाद नितीश को  बिहार राज्य बिजली बोर्ड में नौकरी मिल गई।

कहा जाता है कि अंतिम समय में नितीश का उनकी पत्नी के साथ अच्छे संबंध नही रहे। वह कभी सीएम आवास पर कदम तक नही रखी। हालांकि खबर ये भी आई थी कि पत्नि के निधन पर नीतीश कुमार काफी रोय थे। खैर, नीतिश कुमार का एक बेटा है, जिनका नाम निशांत कुमार है। निशांत बीआईटी से ग्रेजुएट है।आगे आप नितीश कुमार की राजनितिक सफर के बारे में जानेंगे।

Political journey of Nitish Kumar | नितीश कुमार का राजनीतिक सफर

नितीश कुमार बिजली बोर्ड में नौकरी करने के दौरान, साल 1974 में जयप्रकाश नारायण आंदोलन (JP movement) में शामिल हुए। इस आंदोलन के चलते उन्हे लगभग 1 साल तक जेल की सजा काटनी पड़ी। ऐसे समय में नितीश कुमार ने राजनीति में आने का फैसला किया। साल 1980 में वे पहली बार बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) लड़े, लेकिन उन्हे हार का मुंह देखना पड़ा। दूसरी बार फिर लड़े और जीतकर साल 1985 में पहली बार बिहार विधानसभा पहुंचे।

बिहार विधानसभा पहुंचने के बाद नितीश कुमार साल 1987 में युवा लोकदल के अध्यक्ष बने। इसी दौरान वे विश्वनाथ प्रताप सिंह द्वारा केंद्र सरकार के विरूद्ध चलाए गए आंदोलन में शामिल हुए। साल 1989 में नितीश कुमार जनता दल यू (JDU) के महासचिव बने।

लोकसभा में नितीश कुमार का सफर

नितीश कुमार साल 1989 में जनता दल ( बिहार ) का महासचिव बने थे। इसी साल नीतीश 9वीं लोकसभा के लिए चुने गए थे। इसके बाद साल 1990 में अप्रैल से नवंबर तक पहली बार वीपी सिंह की सरकार में कृषि एवं सहकारी विभाग के केंद्रीय राज्य मंत्री बने रहे।

  • साल 1991 में नितीश कुमार दूसरी बार लोकसभा चुनाव जीतकर संसद पहुंचे। इसी दौरान कांग्रेस को टक्कर देने के लिए जनता दल पार्टी का गठन हुआ। नितीश कुमार पार्टी के महासचिव और फिर संसद में उप-नेता बने।
  • 1996 के लोकसभा चुनाव में नितीश कुमार तीसरी बार लोकसभा के लिए चुने गए। तकरीबन दो सालों तक वे रक्षा समिति के सदस्य बने रहे। 1996 से 1998 तक रक्षा समिति के सदस्य भी रहे।
  • नितीश कुमार साल 1998 में 12वीं लोकसभा चुनाव जीते और चौथी बार लोकसभा के सदस्य बने। इस समय अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार थी, जिसमे 1998 से 1999 तक नितीश कुमार रेल मंत्री बने रहे।
  • करीब एक साल बाद, 1999 में फिर से लोकसभा चुनाव हुए। और नितीश केंद्रीय कैबिनेट मंत्री एवं भूतल परिवहन का पद संभाला। कुछ समय इस पद पर रहने के बाद उन्होंने इस्तीफ़ा दे दिया और कृषि मंत्रालय के मंत्री बने। नितीश कुमार तकरीबन 1 साल तक हमारे देश के कृषि मंत्री रहे।
  • साल 2001 में नितीश कुमार रेल मंत्री बने। नितीश के कार्यकाल के दौरान ही साल 2002 में गुजरात दंगा हुआ था। नितीश 2001 से 2004 तक केंद्रीय रेल मंत्री रहे और देश के लिए कई अहम फैसले लिए।
  • साल 2005 में एक बार फिर से बिहार का राज्यगद्दी यानि बिहार के मुख्य मंत्री बने।

मुख्यमंत्री के रूप में नितीश कुमार का सफर

नितीश के राजनीतिक करियर में सबसे बड़ा मोड़ तब आया जब वे साल 2000 में बिहार के मुख्यमंत्री बने। हालांकि, 7 दिनों के भीतर ही उनकी सरकार गिर गई और उन्हे इस्तीफ़ा देना पड़ा।

  • उसके बाद, साल 2005 में बिहार विधानसभा का चुनाव हुआ। 15 साल से चल रही RJD सरकार को हराकर भाजपा के सपोर्ट से नितीश कुमार दूसरी बार मुख्यमंत्री बने।
  • पांच सालों में नितीश कुमार ने बिहार में इतना बढ़िया काम किया कि 2010 के विधानसभा चुनाव में उन्हे बंपर जीत मिली। नितीश कुमार तीसरी बार बिहार के मुख्यमंत्री बने। इस कार्यकाल के दौरान सपोर्ट पार्टी भाजपा (BJP) से नितीश का अन बन हो गया।
  • साल 2014 में लोकसभा चुनाव हुए। मोदी लहर में नितीश की पार्टी जनता दल यू बिहार में बुरी तरह हार हुई। नितीश ने अपनी हार की जिम्मेदारी लेते हुए, नैतिकता के आधार पर मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा दे दिया। तब पार्टी की ओर से जितन राम मांझी को बिहार का मुख्यमंत्री बनाया गया।
  • साल 2015 में नितीश कुमार चौथी बार मुख्यमंत्री बने। हालांकि, यह चुनाव नितीश के लिए मुश्किल भरा रहा। नितीश ने मोदी लहर में भाजपा को हराने के लिए कांग्रेस और आऱजेडी के साथ हाथ मिलाया। चुनाव में जनता ने नितीश के महा-गठबंधन को पसंद किया और भाजपा की हार हुई।
  • नितीश कुमार ने 26 जुलाई 2017 को एक बार फिर Chief Minister पद से इस्तीफ़ा दे दिया। इसका कारण यह बताया गया कि उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे, इसलिए नितीश कुमार तेजस्वी से उप-मुख्यमंत्री पद से हटने को कहा। लेकिन जब तेजस्वी ने ऐसा नही किया तो नितीश कुमार खुद ही सीएम से इस्तीफ़ा देकर महा-गठबंधन को तोड़ दिया।
  • इस्तीफ़े के कुछ घंटे बाद ही, नितीश कुमार फिर से भाजपा के साथ हो गए। विधानसभा में अपना बहुमत साबित कर नितीश पांचवी बार मुख्यमंत्री बने। उनका कार्यकाल 2020 में खत्म होने के बाद है। बिहार में फिर से विधानसभा चुनाव हुए, जिसमे एक बार फिर से नितीश ने बिहार की राज्यगद्दी को संभाला है।

Unseen pictures of Nitish Kumar | नीतीश कुमार की कुछ अनदेखी तस्वीरें

नितीश कुमार की कुछ अनदेखी तस्वीरें जो सायद आपने इसके पहले कभी नहीं देखा होगा। Hmm, तो क्या आप नीतीश कुमार की निजी जीवन (Nitish Kumar Lifestyle) के बारे में जानने के लिए उत्सुक हैं ? हाँ, तो निचे पढ़े।

Conclusion निष्कर्ष

इस “Nitish Kumar Biography जीवन परिचय से लेकर राजनितिक तक का सफर” लेख को लिखने के लिए विकिपीडिया की मदद लिया गया है, इस लेख में अगर कही पर भी आपको गड़बड़ नजर आ रही हैं तो निचे कमेंट में हमे बता सकते हैं हम उसे अपडेट करने की प्रयाश करेंगे।

हमें आशा हैं की यह Nitish Kumar Biography नीतीश कुमार की जीवन परिचय लेख आपको पसंद आया होगा। इस लेख को अपने सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे। साथ ही आप हमसे Instagram और Facebook पर जुड़ सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

GIPHY App Key not set. Please check settings

Written by BJ Staff

The BiharJournal is a News & Information Blog covering Breaking News, Poetry, and Latest Stories from Bihar.

Neelam Giri Biography in Hindi

Neelam Giri Biography – नीलम गिरी – Biography in Hindi

Khan Sir Wikipedia Hindi

Khan Sir Patna Biography – खान सर की जीवन परिचय – Khan Sir Wiki