in ,

Best Poem on Boy in Hindi – लड़कों पर हिंदी कविता

Poem on Boy in Hindi

Poem on Boy in Hindi ( Best Poem on Boy in Hindi Collection ) – जी हाँ ये बिलकुल सच हैं की लड़के जबतक अपने घर यानि कि माँ-बाप की छत्र-छाया में रहते है तबतक उन्हें किसी दुःख दर्द का आभास ही नहीं होता है पर जब वो घर से बाहर निकलते है तो अक्सर उन्हें अपना घर और माँ-बाप याद आते हैं. कुछ चंद पैसों के लिए अपने सपनों को अपनी दिल की इच्छाओं को मारते रहते है. लड़को से माता-पिता और इस समाज की कुछ ज्यादा ही अपेक्षायें होती है जिसके कारण लड़के अक्सर अपने जीवन में परेशान और दुखी रहते हैं.

इस लेख में हमने कुछ आपलोगों के लिए Motivational शायरी और लड़के पर कविता ( Poem on Boy in Hindi ) पेश कर रहे हैं, जिसे आप पढ़ सकते है।

1. Ladke Bhi Rote Hai…

Poem on Boy in Hindi
Heart Touching Poem on Boy

यदि लड़की पापा की परी तो लड़के भी कोहिनूर होते है,
लड़के भी रोते है जब घर से दूर होते हैं ।

माना कि लड़कियों को घर छोड़ जाने का एक डर होता है,
लेकिन इनका एक घर के बाद दूसरा घर होता है,

माना कि लड़कों को कोई डर नही होता,
ये नौकरी तो करते हैं कई शहरों में पर इनका कोई घर नहीं होता,

अपनों के सपनों के खातिर ये भी मजबूर होते हैं,
अजी लड़के भी रोते है जब घर से दूर होते हैं।।

खड़े हमेशा सोचते हैं घर के बारे में पर खड़े कहीं और होते हैं,
सिर्फ लड़कियां ही नही लड़के भी दिल से कमजोर होते हैं,

विश्व जीतने का एक सिकंदर इनमें भी होता है,
बस रोते नहीं पर एक समुन्दर इनमें भी होता है,

लड़के भी रोते हैं, जब घर से दूर होते हैं
घर मे बच्चे लेकिन बाहर मशहूर होते हैं,
अजी लड़के भी रोते है जब घर से दूर होते हैं।

लड़के भी घर से बाहर मम्मी पापा के बगैर होते हैं,
यदि लड़की घर की लक्ष्मी तो लड़के भी कुबेर होते

बस यादें ही जा पाती है अपने गांव जमीनों तक,
लड़के भी कहाँ जा पाते हैं कई साल महीनों तक..!

दर्द हम लड़कों को भी होता है…

Ladko Par Kavita Hindi

दर्द हम लड़कों को भी होता है,
लेकिन हम यूँ रो तो नही सकते

फ़ील तो हम लड़को को भी होता है,
लेकिन किसी से कह भी नही सकते

चाहत तो हमारे दिल मे भी होती है,
लेकिन हम बता भी तो नहीं सकते

बेवफ़ाई हम ही करे ये जरूरी तो नही,
हर बार हम ही ग़लत हो जरूरी तो नही

होती है बहुत जिम्मेदारियां हम पर भी,
हम आवारा निक्कमे ही जरूरी तो नही…

इसे भी पढ़े:

ये लड़को पर लिखी हुई हिंदी में कविता ( Poem on Boy in Hindi ) आपको कैसा लगा और साथ ही कोई सवाल या सुझाव हो तो निचे कमेंट में जरूर बताएं।

अगर आप एक लेखक है तो बिहार जर्नल आपको अपनी रचनाएँ इस ब्लॉग पर लिखने का मौका देता है, आप अपनी लेख और रचनाएँ बिहार जर्नल के माध्यम से पुरे भारत वर्ष में शेयर कर सकते हैं । अपनी रचनाएँ भेजने के लिए यह क्लिक करें।

Written by साहित्य जर्नल

 हमारा प्रयास साहित्य के विभिन्न रूपों को साहित्य जर्नल के माध्यम से जनता तक पहुँचाना और नए उभरते लेखकों को प्रोत्साहित करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

GIPHY App Key not set. Please check settings

Bihar Hu Mai - Hindi Poem

Bihar Hu Mai – बिहार हूँ मैं – बिहारवासियों के लिए समर्पित

Poem on Life Cycle

Poem on Life Cycle – मैं खुद को भूल जाता था…